एटीएम कार्ड के ज़रिए ठगी

Arti Singh Tanwar

दोस्तों! कैशलेस इकोनॉमी के दौर में प्रायः सभी लोग एटीएम का प्रयोग करते हैं। आज हम आपको बताने जा रहे हैं कि ग्राहकों के एटीएम कार्ड की क्लोनिंग के ज़रिए कैसे ये साइबर ठग लोगों को चूना लगा रहे हैं और साथ ही यह भी बताएंगे कि इस तरह की जालसाज़ी से कैसे बचा जाए। जैसा कि आप सभी जानते होंगे कि आजकल एटीएम कार्ड क्लोनिंग के ज़रिए ये साइबर क्रिमिनल्स लोगों का अकाउंट साफ कर रहे हैं। ये अपराधी एटीएम कार्ड और डेबिट कार्ड की क्लोनिंग के लिए एटीएम मशीन में पहले से ही स्कीमर फिट कर देते हैं। जैसे ही हम कार्ड स्वाइप करते हैं, कार्ड की सारी डिटेल्स इस मशीन में कॉपी हो जाती है। इसके बाद ये ठग आपकी सारी डिटेल कंप्यूटर या अन्य तरीकों के जरिए खाली कार्ड में डाल कर कार्ड क्लोन तैयार कर लेते हैं। फिर ये अपराधी दूसरे एटीएम में जाकर उस कार्ड क्लोन के ज़रिए आपके अकाउंट से पैसे निकाल लेते हैं। इस प्रकार ये जालसाज़ लोगों को लाखों रुपए का चूना लगा चुके हैं। अब हम आपको बताने जा रहे हैं कि ये क्रिमिनल्स इस अपराध को कैसे अंजाम देते हैं- 1) सबसे पहले ये एटीएम मशीनों में स्कीमर फिट कर देते हैं। पैड पर मैट के तरीके का एक उपकरण लगा देते हैं। 2) स्वाइप के स्थान पर एक कॉपी मशीन तथा पासवर्ड को देखने के लिए एक बटन जैसा कैमरा लगा दिया जाता है। इस प्रकार इस मशीन में जितने भी एटीएम स्वाइप होते हैं, उन सभी का डाटा इनके पास इकट्ठा हो जाता है और ये ठग एटीएम कार्ड को क्लोन के रूप में तब्दील कर वारदात को अंजाम देते हैं। इन घटनाओं को देखते हुए भारतीय रिजर्व बैंक ने समय-समय पर बैंकों के साथ ही सामान्य जन के लिए भी हेल्पलाइन नंबर जारी किया है। अब हम आपको यह बताने जा रहे हैं कि एटीएम का इस्तेमाल करते समय आप क्या सावधानी रखें और यदि आपके साथ इस तरह का कोई फ्रॉड हो जाता है तो आपको क्या करना चाहिए- 1) सबसे पहले यदि आप एटीएम के ज़रिए पैसा निकालने गए हैं तो ध्यान दें कि कार्ड डालने वाली स्लॉट के पास लाइट जल रही है अथवा नहीं, यदि लाइट नहीं जल रही है तो अपना कार्ड न डालें। 2) पासवर्ड डालते समय कीपैड को अपने हाथों से ढक लें ताकि यदि कोई हिडेन कैमरा लगा हो तो वह आपका पासवर्ड न देख सके। 3) यदि आपको कीपैड जरा भी ढीला लगे तो आप उसका इस्तेमाल न करें। दोस्तों! यदि आपके साथ इस तरह का कोई स्कैम हो भी जाता है तो इसकी सूचना तुरंत कार्ड जारी करने वाले बैंक को दें तथा पुलिस में इसकी एफ. आई. आर. दर्ज़ कराएं। आरबीआई (रिज़र्व बैंक ऑफ़ इंडिया) के निर्देशानुसार, “यदि इस तरह के लेनदेन में किसी तीसरे पक्ष का हाथ है तो ग्राहक को इसके लिए कुछ भी खर्च नहीं करना है।” याद रखें कि यदि आप स्कैम के शिकार हुए हैं तो 3 दिन के भीतर इसकी जानकारी कार्ड जारी करने वाले बैंक को लिखित रूप से दर्ज कराएं। इस पर बैंक कार्रवाई करेगा और 90 दिनों के भीतर आपके अकाउंट में पैसा वापस आ जाएगा। परंतु जब तक बैंक की जाँच पूरी नहीं होती आप इस रकम को खर्च नहीं कर सकते। दोस्तों! सतर्कता और सावधानी ऐसे उपकरण हैं जिनका प्रयोग कर हम अपना और साथ ही पुलिस व प्रशासन को भी सहयोग प्रदान कर सकते हैं।

रीट क्या है? रीट एग्जाम योग्यता, एग्जाम पैटर्न, कोर्स, जॉब, सैलरी, करियर की पूरी जानकारी

Reet Exam

REET kya hai, रीट में कितने पेपर होते हैं, रीट परीक्षा क्या है, REET level 2 Kya Hota Hai, रीट में पास होने के लिए कितने नंबर चाहिए, रीट परीक्षा के बारे में जानकारी, REET level 3 kya hota hai, रीट 2021 के लिए अधिकतम आयु सीमा, REET Level 1 Kya hota Hai || यदि आप राजस्थान के स्थायी निवासी हैं और अध्यापक बनने की चाहत रखते हैं। तो इस आर्टिकल को ध्यानपूर्वक पढ़े। राजस्थान में अध्यापक बनने के लिए रीट परीक्षा में बैठना (Reet kya hota hai) अनिवार्य होता हैं। हालाँकि देशव्यापी तौर पर अध्यापक भर्ती के लिए TET या CTET की परीक्षा का आयोजन होता है परन्तु अगर आपको राजस्थान के किसी भी सरकारी, अर्ध सरकारी (Reet kaise pass kare) या निजी स्कूल में प्राइमरी शिक्षक की नौकरी करनी है तो आपको रीट (REET) की परीक्षा देनी होती है।   आइए जानते है रीट के बारे में सभी जानकारी विस्तार से। रीट क्या है (REET kya hai) राजस्थान के अंदर जितनी भी स्कूल आती है उन्हे  राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड मान्यता देती है। और इसी तरह से हर राज्य का अपना माध्यमिक बोर्ड होता हैं। और हर राज्य का पाठ्यक्रम भी अलग अलग होता है और उसी प्रकार अंदर आने वाले स्कूल भी अलग अलग होते हैं। इस तरह से राजस्थान मंधामिक शिक्षा बोर्ड अपने थर्ड ग्रेड टीचर की भर्ती के लिए रीट की परीक्षा आयोजित कराती हैं। इस परीक्षा में जो छात्र पास होते हैं उन्हें एक सर्टिफिकेट दिया जाता हैं। इसी सर्टिफिकेट के आधार पर उन्हें राजस्थान के विभिन्न स्कूल/ कॉलेज में नौकरी मिलती हैं।   रीट की फुल फॉर्म (Reet ka full form) रीट की फुल फॉर्म होता है राजस्थान एलेजिबिलिटी एग्जामिनेशन फॉर टीचर्स (Rajasthan Eligibility Examination for Teachers). लेकिन, अगर रीट के हिंदी नाम की बात करें तो रीट का हिंदी नाम राजस्थान अध्यापक पात्रता परीक्षा होता है।   रीट के तहत थर्ड ग्रेड टीचर की भर्ती (Reet ki bharti) यदि आप रीट परीक्षा में पास होते है तो आपको दो तरह की भर्ती मिल सकती है या आप दो तरह की भर्ती के लिए एलिजिबल हो जाते है। ये दोनों (What is reet level 1 and 2 in Hindi) भर्ती थर्ड ग्रेड टीचर के लिए की जाती है। लेकिन इसमें बच्चों को पढ़ाने का स्तर अलग अलग हो जाता है। आइए दोनों के बारे में विस्तार में जानते है।।   रीट लेवल 1 के तहत भर्ती (Reet level 1 ki bharti) अगर आप रीट की परीक्षा में लेवल 1 का पेपर देते तो आपकी नौकरी कक्षा एक से कक्षा पांच तक बच्चों को पढ़ाने की लगेगी। इसका मतलब रीट का लेवल 1 पास करने पर सरकारी व अर्ध सरकारी स्कूल में कक्षा 1 से 5 तक के छात्रों के लिए थर्ड ग्रेड टीचर के रूप में आपकी नियुक्ति होगी।   रीट लेवल 2 के तहत भर्ती (Reet level 2 ki bharti) रीट लेवल 2 रीट लेवल 1 से बड़ा होता हैं और इसके तहत मिलने वाली नौकरी और वेतन भी ज्यादा होता हैं। अगर आप रीट लेवल 2 का पेपर पास करते हैं तो आप राजस्थान सरकार के अंतर्गत आने वाले सभी सरकारी व अर्ध सरकारी स्कूल के कक्षा 6 से कक्षा 8 तक के बच्चों को पढ़ाने का मौका मिलता है।   रीट की परीक्षा देने के लिए योग्यता (Reet ke liye yogyata) रीट की परीक्षा देने के लिए कुछ योग्यता होनी जरूरी है। हालाँकि यह कैंडिडेट्स पर निर्भर करता हैं कि वो रीट की कौन सी लेवल की परीक्षा देना चाहते हैं क्योंकि दोनो लेवल के लिए योग्यताएं अलग अलग हैं। हालाँकि दोनों ही परीक्षा देने के लिए न्यूनतम बारहवीं पास होना जरूरी हैं। इसके बाद आपकी शैक्षणिक योग्यता रीट की लेवल देने के ऊपर निर्भर करता हैं। आईए जानते है..   रीट लेवल 1 देने के लिए योग्यता आपके पास एलीमेंट्री एजुकेशन में डिप्लोमा की डिग्री होनी चाहिए। साथ ही बारहवीं कक्षा में न्यूनतम 50 प्रतिशक अंक प्राप्त होने चाहिए। बारहवीं किसी भी स्ट्रीम से हो सकता है। रीट लेवल 2 देने के लिए योग्यता इसके लिए भी बारहवीं की कक्षा को पास करें। इसमें आपके न्यूनतम 50 प्रतिशत अंक होने चाहिए। साथ ही 12 वीं की कोई भी स्ट्रीम चलेगी। साथ ही आपके पास किसी मान्यता प्राप्त कॉलेज या यूनिवर्सिटी से स्नातक की डिग्री हो। इसके अलावा आपके पास बीएड की डिग्री होना अनिवार्य है। नोट:- किसी भी सरकारी स्कूल में प्राइमरी मास्टर या थर्ड ग्रेड टीचर में उच्च श्रेणी की नौकरी करने के लिए बीएड की डिग्री अनिवार्य है। अगर किसी कारणवश आपके पास बीएड की डिग्री नहीं है तो आप कुछ अन्य कोर्स जो कि बीएड से ही संबंधित हैं वह कर सकते हैं। उन कोर्सेज के नाम इस प्रकार है B.A/B.Sc.Ed or B.A.Ed/B.Sc.Ed.   रीट परीक्षा का सिलेबस (Reet 2022/2023 syllabus in Hindi) अब जब आपने रीट की परीक्षा देने का मन बना लिया है तो आपको रीट की परीक्षा का सिलेबस पता होना जरूरी हैं। जब तक आपको सिलेबस पता नही होगा आप उसकी अच्छे से प्रिपरेशन नही कर पाएंगे। आइए जानते है रीट का सिलेबस (Reet ka syllabus) क्या हैं और उसमे किन विषयों से क्या क्या प्रश्न पूछे जा सकते हैं। रीट की परीक्षा कुल 150 प्रश्न का होता है। और इसे हल करने के लिए 150 मिनट दिए जाते है। यानी की एक प्रश्न एक नंबर का होता है। और जवाब गलत होने पर कोई मार्क्स नही काटे (Reet me negative marking) जाते हैं। भाषा प्रथम (हिंदी/ अंग्रेजी/ संस्कृत/ पंजाबी/ गुजराती/ सिन्धी/ उर्दू) – कुल 30 प्रश्न भाषा द्वितीय (हिंदी/ अंग्रेजी/ संस्कृत/ पंजाबी/ गुजराती/ सिन्धी/ उर्दू) – कुल 30 प्रश्न बाल विकास व शिक्षा – कुल 30 प्रश्न गणित – कुल 30 प्रश्न पर्यावरण शिक्षा – कुल 30 प्रश्न इसमें कुल 5 विषय हैं जिसमें प्रत्येक से 30 प्रश्न व 30 अंक निर्धारित होंगे। इसके आधार पर चयन प्रक्रिया किया जाता है।  

Rajasthan CET Senior Secondary Level Syllabus 2022 in Hindi (RSMSSB CET 12th लेवल भर्ती परीक्षा का सियेबस और एग्जाम पेट्रन)

Rajasthan CET Exam Details

Rajasthan CET Senior Secondary Level Syllabus 2022 in Hindi pdf Download (RSMSSB CET 12th लेवल भर्ती परीक्षा का सियेबस और एग्जाम पेट्रन), RSMSSB CET Syllabus Topic Wise/ Rajasthan Common Eligibility Test (10+2 Level) 2023 Exam Syllabus & Pattern के बारे में सम्पूर्ण जानकारी। राजस्थान कर्मचारी चयन बोर्ड द्वारा समान पात्रता परीक्षा (12 वीं स्तर परीक्षा) के लिए 10 अक्टुम्बर को ऑफिशियल नोटिफिकेशन जारी की जा चुकी है। जो उम्मीदवार Rajasthan Common Eligibility Test 2022 के लिए अप्लाई करने जा रहे है, वे जारी राजस्थान सीईटी का सिलेबस और परीक्षा पैटर्न के बारे में जान लें।   Rajasthan CET Senior Secondary Level Syllabus 2022 in Hindi – RSMSSB 12th लेवल भर्ती परीक्षा का सिलेबस और एग्जाम पेट्रन Organization – Rajasthan Staff Selection Board Exam Name  – Common Eligibility Test (CET) Exam Level  – Senior Secondary Level (10+2) Exam Date – 18, 19, 25, 26 Feb 2022 Selection Procedure  – Written Exam Merit List Exam Types – CBT Release CET Notification – 10 October 2022 Last Date – 11 November 2022 Official Website – www.rsmssb.rajasthan.gov.in Rajasthan Common Eligibility Test Exam Pattern 2022 सभी प्रश्नों मल्टीपल चॉइस होंगे । परीक्षा में कुल 150 प्रश्न पूछे जाएंगे और अधिकतम 300 अंको की परीक्षा होगी । परीक्षा पूरे 3 घंटे का होगा । परीक्षा में किसी भी प्रकार का कोई नकारात्मक अंकन (Negative Marking) नहीं रखा गया हैं। Rajasthan CET Senior Secondary Level Recruitment 2022 Application Fee राजस्थान सीईटी सीनियर सेकेंडरी लेवल एग्जाम 2022 के लिए आवेदन शुल्क नीचे बताए गए हैं. सामान्य वर्ग एवं क्रीमीलेयर श्रेणी के अन्य पिछड़ा वर्ग /अति पिछड़ा वर्ग के लिए : 450 रुपए राजस्थान के नॉन क्रीमलेयर श्रेणी के पिछड़ा वर्ग/ अति पिछड़ा वर्ग और आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के लिए : 350 रुपए समस्त विशेष योग्यजन एवं राज्य के अनुसूचित जाति /अनुसूचित जनजाति के लिए : 250 रुपए सभी वर्ग के ऐसे अभ्यर्थी जिनके परिवार की वार्षिक आय 2.50 लाख रुपए से कम है, अनुसूचित जाति / अनुसूचित जनजाति इन सभी के लिए परीक्षा शुल्क 250 रुपए रखे गए हैं. RSMSSB 12th CET 2022: राजस्थान सीईटी 12वीं स्तर के लिए योग्यता राजस्थान सीईटी सीनियर सेकेंड्री लेवल 2022 के लिए आवेदन करने के लिए कैंडिडेट्स को किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से 10+2 की परीक्षा में उत्तीर्ण होना जरूरी हैं। जो कैंडिडेट्स अभी 12th में पढ़ाई कर रहे हैं वो भी इस परीक्षा को दे सकते हैं। समान पात्रता परीक्षा के लिए कम से कम 18 वर्ष और अधिकतम आयु 40 वर्ष होनी चाहिए। आयु 1 जनवरी 2023 से मानी जाएगी। कॉन्स्टेबल पद के लिए अधिकतम आयु सीमा 24 वर्ष है। RSMSSB 12th CET 2022: राजस्थान सरकार की इन सेवाओं व पदों के लिए भर्ती राजस्थान सीईटी 12वीं स्तर की परीक्षा के माध्यम से राज्य सरकार की विभिन्न सेवाओं और पदों का विवरण नीचे उपलब्ध हैं:- राजस्थान वन अधीनस्थ सेवा – वनपाल राजस्थान अपल्पसंख्यक मामलात अधीनस्थ सेवा – छात्रावास अधीक्षक राजस्थान सचिवालय लिपिकवर्गीय सेवा – लिपिक ग्रेड 2 राजस्थान अधीनस्थ कार्यालय लिपिकवर्गीय सेवा – कनिष्ठ सहायक राजस्थान लोक सेवा आयोग कार्यालय लिपिकवर्गीय सेवा – लिपिक ग्रेड 2 राजस्थान आबकारी अधीनस्थ सेवा (निवारक शाखा) – जमादार ग्रेड 2 राजस्थान पुलिस अधीनस्थ सेवा – कॉन्स्टेबल Rajasthan CET 12th Level Syllabus 2022 Subjects Wise उम्मीदवार को राजस्थान में 2022-23 के लिए होने जा रही समान्य पात्रता परीक्षा के लिए सिलेबस आप विषय वाइस नीचे उपलब्ध हैं। राजस्थान का इतिहास, कला, साहित्य, संस्कृति, परम्परा और विरासत प्राचीन सभ्यताए (कालीबंगा, आहड़, गणेश्वर, बालाथल और बैराठ) राजस्थान के इतिहास की महत्वपूर्ण ऐतिहासिक घटनाये (प्रमुख राजवंश और उनकी राज्य व्यवस्था) स्थापत्य कला की प्रमुख विशेस्तए – किले, स्मारक, क्लये, चित्रकला और हस्तकला राजस्थान का एकीकरण राजस्थान की संस्कृति, विरासत और परम्पराये राजस्थान के स्वतंत्रता आंदोलन राजनितिक जनजागरण एवं प्रजामण्डल आंदोलन मेले त्यौहार लोक नृत्य लोक संगीत मेले और त्यौहार रीती-रिवाज वेशभूषा आभूषण लोक भाषाएँ और साहित्य संत, कवी, योध्या, लोक देवता और लोक देविया भारत और राजस्थान का भूगोल भारत के भौतिक स्वरूप जलवायु दर्शाये, वनस्पति और मृदा भूगर्भीय संरचना एवं भू-आकृतिक प्रदेश अपवाह तंत्र, झीले, बांध, सागर और जल संरक्सन तकनीके प्राकृतिक वनस्पति वन्य जिव-जंतु एवं अभ्यारण जनसंख्या – धनत्व, लिंगानुपात और शिक्षा प्रमुख जनजातीय धात्विक और अधात्विक खनिज पदार्थ ऊर्जा संसाधन – परम्परागत और गैर परम्परागत पर्यटन स्थल राजस्थान पर विशेष बल के साथ भारतीय राजनितिक व्यवस्था भारतीय सविधान की प्रकृति मौलिक अधिकार मौलिक कर्तव्य राजयपाल, मुख्यमंत्री, राज्य विधानसभा, उच्चन्यालय राजस्थान लोक सेवा आयोग निर्वाचन आयोग राज्य सुचना आयोग राज्य का मुख्य सचिव जिला प्रशासन स्थानीय स्व-शासन एवं पंचायती राज राजस्थान की अर्थवव्यस्था राजस्थान के कृषि आधारित उधोग वृहद सिचाई एवं नदी घटी परियोजनाएं राजस्थान का ओधोगिक विकास – कर्षि आधारित उधोग, खनिज आधारित उधोग, लागु और कुटीर उधोग विभिन्न कल्याणकारी योजनाए, महात्मा गाँधी राष्टीय ग्रामीण रोजगार गारंटी अधिनियम, पंचायती राज संस्थाओ की ग्रामीण विकास में भूमिका राजस्थान में ऊर्जा के प्रमुख स्रोत दैनिक विज्ञान भौतिक और रासायनिक परिवर्तन ऑक्सीकरण और अपचय अभिकिरियाये, उत्प्रेरक। धातु, अधातु और इनके महत्वपूर्ण यौगिक, दैनिक जीवन में प्रयुक्त होने वाले कुछ महत्वपूर्ण यौगिक। कार्बन और कार्बन के महत्वपूर्ण यौगिक; हाइड्रोकार्बन, कार्बन के आवंटन, क्लोरो-फ्लोरो कार्बन या Freons, सी. एन जी, बहुलक, साबुन और अपमार्जक। प्रकाश का परिवर्तन व् इनके नियम, परकास का वरन विश्लषण, लेंस के प्रकार,दृष्टि दोष और उनका निवारण। अंतरिक्ष और सूचना प्रौद्योगिकी, भारत का अंतरिक्ष अनुसंधान कार्यक्रम, सूचान प्रौद्योगिकी। आनुवंशिकी से संबंधित सामान्य शब्दावली, मेंडल का नियम, गुणसूत्रों की संरचना, न्यूक्लिक अम्ल, मानव में लिंग निर्धारण। पर्यावरण अध्ययन, पारिस्थितिक तंत्र की संरचना, पारिस्थितिकी तंत्र के जैविक घटक, पारिस्थितिकी तंत्र में ऊर्जा प्रवाह, जैव-भू-रासायनिक चक्र। जैव प्रौद्योगिकी: सामान्य जानकारी, जैव पेटेंट, नई पौधों की किस्मों का विकास, ट्रांसजेनिक जीव या ट्रांसजेनिक जीव। जानवरों का आर्थिक महत्व, पौधों का आर्थिक महत्व। रक्त समूह, रक्त आधान, आरएच कारक। रोगाणु और मानव स्वास्थ्य। कुपोषण और मानव स्वास्थ्य। मानव रोग – कारण और उपचार। तार्किक विमोचन एवं मानसिक योग्यता वैदिक पद्धति से पूर्ण संख्याओं का वर्ग, घन, वर्गमूल, घनमूल (6 अंकों तक की संख्या)। गुणनखंड, बहुपद के गुणनखंड, समीकरण, दो चरों वाले रैखिक समीकरण, द्विघात समीकरण, लघुगणक। अनुपात – अनुपात, प्रतिशत, लाभ और हानि, शेयर, साधारण ब्याज, चक्रवृद्धि ब्याज, बट्टा। एक बिंदु पर बने वाले कोण और रेखाएँ, सीधी रैखिक आकृतियाँ, त्रिभुजों की सर्वांगसमता, समरूप त्रिभुज, कार्तीय निर्देशांक प्रणाली,

Rajasthan Common Eligibility Test (CET) क्या है? CET Exam की पूरी जानकारी | राजस्थान समान पात्रता परीक्षा details in Hindi

Rajasthan CET Exam Notification

Rajasthan Common Eligibility Test 2022: CET kya hai, सिलेबस, एग्जाम पैटर्न, न्यूनतम योग्यता, सर्टिफिकेट वैलिडिटी, इसमें कौन कौन से पद शामिल हैं, नंबर ऑफ अटेंप्ट्स, आज के इस ब्लॉग में हम आपको राजस्थान समान पात्रता परीक्षा की सम्पूर्ण जानकारी देंगे। राजस्थान कॉमन एलिजिबिलिटी टेस्ट 2022 के लिए ऑनलाइन आवेदन 22 सितंबर से 21 अक्टूबर 2022 तक होंगे। राजस्थान कॉमन एलिजिबिलिटी टेस्ट 2022 के लिए परीक्षा का आयोजन 4 जनवरी 2023 से 9 जनवरी 2023 में करवाया जाएगा।  Common Eligibility Test (CET) क्या हैं? परीक्षार्थियों को पहले अगल अलग सेक्टर में सरकारी नौकरी के लिए अलग अलग एग्जाम देना पड़ता था। लेकिन, अब ऐसा नही होगा। केंद्र सरकार ने इस बार बार के एग्जाम देने से परीक्षार्थियों को मुक्त कर दिया हैं। अब जो परीक्षार्थी सीईटी (CET) का एग्जाम देता है उनको बैंक, एसएससी, रेलवे की ओर से होने वाले परीक्षाओं में सीधे दूसरे चरण की परीक्षा में शामिल होने का सीधे मौका मिल जाएगा। इसे आप एक तरह से pre परीक्षा भी कह सकते हैं। इस परीक्षा को अब कई राज्य सरकार ने में लागू किया हैं और उनमें से एक है राजस्थान राज्य सरकार। Common Eligibility Test Purpose Common Eligibility Test परीक्षा एक तरह का परीक्षा ही हैं। इसमें पास करने के बाद कैंडिडेट्स को किसी भी ग्रुप बी और ग्रुप सी (Non-Technical) भर्तियों के लिए सीधे Tier II के लिए एलिजिबल हो जाएंगे। Note: एक बात का अभ्यर्थी ध्यान रखे कि सिर्फ सीईटी में स्कोर प्राप्त करने से उन्हे नौकरी मिलने की कोई गारंटी नहीं हैं। अभ्यर्थीयों को भर्ती एजेंसी द्वारा संचालित लिखित परीक्षा और इंटरव्यू भी पास करना होगा। CET स्कोर की वैधता कितनी रहेगी ? CET स्कोर की वैधता तीन (3) साल तक रहेगी। यानी की अगर कोई विधार्थी राजस्थान समान पात्रता परीक्षा में पास कर अच्छे अंक और रैंक लाता हैं तो वो अगले तीन सालों तक आने वाले सभी भर्तियों में अप्लाई कर सकता हैं। CET एग्जाम देने के फायदे CET के मध्यम से One Time Registration की एक ऐसी व्यवस्था विकसित की जाएगी जिससे अभ्यर्थियों को एक Unique पहचान नंबर मिलेगी जो की इस सीईटी के आधार पर किसी पद विशेष भर्ती के लिए उपयोग में ली जा सकेगी ताकि उन्हें बार बार आवेदन नही करना पड़ेगा। इसे देने से अभ्यर्थियों का समय और ऊर्जा को बचत होगी। राजस्थान CET का आयोजन कौन करवाता हैं और साल में कितनी बार होगी? राजस्थान CET का आयोजन राजस्थान कर्मचारी चयन बोर्ड (RSSB) करवाता है। यह साल में एक बार आयोजित करवाई जाएगी। समान पात्रता परीक्षा न्यूनतम योग्यता इस परीक्षा में भाग लेने के लिए Candidates के पास निम्नलिखित Educational Qualification Criteria योग्यता होना जरूरी हैं। किसी भी मान्यता प्राप्त बोर्ड (चाहे वो राज्य या केंद्र) से 10 वीं या 12 वीं पास होना चाहिए। ग्रुप बी पदों पर भर्ती के लिए CET Exam का स्नातक स्तर पर एग्जाम होगा जिसमे अभ्यर्थी को स्नातक की योग्यता होनी चाहिए। इसके लिए वो किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से पास हो। न्यूनतम अंक प्रतिशत के बारे अभी कोई जानकारी नहीं हैं। CET Exam Mode और Language Available Exam Mode – Online (Computer Based) Language Available – यह एग्जाम 12 अलग अलग भाषा में ली जाएगी। CET Examination Pattern इस परीक्षा में अभ्यर्थियों के अलग अलग स्किल्स की मापा जाएगा जिसमे Mental Ability, Reasoning, General Knowledge, Hindi, Language Knowledge (हिंदी & इंग्लिश), Computer, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी और साथ में भारत एवं राजस्थान जैसे विषयों से सवाल पूछें जाएंगे। CET एग्जाम पूरे 300 अंकों का होगा। इसमें कुल 150 प्रश्न पूछें जाएंगे और 3 घंटे का समय दिया जाएगा। इस बार negative marking नहीं होगी। सभी प्रश्न बहुविकल्पी होंगे और सभी के अंक समान होंगे। Official website – rsmssb.Rajasthan.gov.in अभ्यर्थी सीईटी से जुड़ी सभी जानकारी ऊपर बताएं गए वेबसाइट से प्राप्त कर सकती हैं।   Common Eligibility Test Exam Syllabus in Details   General Studies ,India & Rajasthan राजस्थान सामान्य परिचय राजस्थान की स्थिति, विस्तार एवं मुख्य भौतिक विभाग Rajasthan की जलवायु एवं मृदा संसाधन राजस्थान के जल संसाधन , नदियाँ एवं झीले राजस्थान के मानव संसाधन , जनसँख्या एवं जनजातियां राजस्थान की पशु सम्पदा राजस्थान में ऊर्जा के विभिन्न स्त्रोत Rajasthan की प्रमुख फसलें राजस्थान की प्रमुख सिचाई परियोजनाएं तथा मरू भूमि के विकास की परियोजनाएं Rajasthan में लोक संगीत, लोक नृत्य, एवं लोक नाट्य राजस्थान के लोक देवता एवं लोक देवियाँ राजस्थान के धार्मिक संत एवं सम्प्रदाय प्राकर्तिक वनस्पति, वन्य जीव एवं जैव विविधिता राजस्थान की आर्थिक योजनाए, विकास कार्यक्रम एवं विकास संस्थान Rajasthan में पंचायतीराज राजस्थान के उद्योग राजस्थान में आर्थिक नियोजन Rajasthan का इतिहास राजस्थान में 1857 की क्रान्ति राजस्थान में स्वतंत्रता आंदोलन, राजनीतिक चेतना एवं जन आंदोलन: किसान आंदोलन, जनजाति आंदोलन, एवं प्रजामण्डल आंदोलन Rajasthan का एकीकरण राजस्थानी भाषा एवं बोलियां राजस्थान साहित्य Rajasthan के त्यौहार राजस्थान के प्रमुख मेले राजस्थान की प्रथाएं एवं रीति रिवाज Rajasthan के वस्त्र एवं आभूषण Mental Ability & Reasoning युक्तिवाक्य चित्रा मैट्रिक्स प्रश्न वर्गीकरण। वर्णमाला परीक्षण। खून के रिश्ते, कोडिंग-डिकोडिंग दिशा ज्ञान परीक्षण। नंबर रैंकिंग और स्क्वायर। निर्णय करना। असमानता श्रृंखला अनुरूप बनाना मार्ग और निष्कर्ष बैठने की व्यवस्था। इनपुट आउटपुट। शब्दों की तार्किक व्यवस्था। Basic Numerical Efficiency संख्या प्रणाली पूर्ण संख्याओं की गणना दशमलव और भिन्न एचसीएफ एलसीएम प्रतिशत अनुपात और अनुपात संख्याओं के बीच संबंध मौलिक अंकगणितीय संचालन कार्य समय समय और दूरी लाभ और हानि साधारण ब्याज औसत छूट साझेदारी टेबल और ग्राफ का उपयोग क्षेत्रमिति English Grammar Active and passive voice Spellings Spot the Error Passage Idioms and Phrases Transformation of sentence Clauses Comprehensions Sentence formation Antonyms, Synonyms Arrangements Sequence of Sentence One word Substitutions Use of prepositions Narrations General Hindi हिंदी व्याकरण वर्तनी शुद्धि वाक्य शुद्धि उपसर्ग प्रत्यय तत्सम तद्भव शब्द पर्यायवाची शब्द विलोम शब्द समास संधि विच्छेद मुहावरे लोकोक्तियां वाक्यांश के लिए एक शब्द General Science नवीनतम सामान्य विज्ञान आनुवंशिकी और विकास परमाण्विक संरचना कार्बनिक रसायन शास्त्र रासायनिक गतिकी बिजली और चुंबकत्व मानव शरीर वनस्पति विज्ञान पारिस्थितिकी और पर्यावरण जैव प्रौद्योगिकी रासायनिक बंधन और गैसीय अवस्था Basic Computer कंप्यूटर का परिचय कंप्यूटर की मूल बातें कंप्यूटर शॉर्टकट कुंजियाँ उच्च स्तरीय कंप्यूटर भाषाएँ वेबसाइट और वेब ब्राउजर इनपुट और आउटपुट डिवाइस कंप्यूटर नेटवर्क कंप्यूटर के प्रकार हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर क्लाउड कंप्यूटिंग की मूल

Rajasthan Police SI 2022 Syllabus for Paper 2 (General Knowledge & General Science)

Rajasthan SI Police Paper 2

Rajasthan Police SI 2022 : राजस्थान का इतिहास, कला, संस्कृति, साहित्य, परंपरा और विरासत राजस्थान के इतिहास में प्रमुख स्थलचिह्न, प्रमुख राजवंश, उनकी प्रशासनिक और राजस्व प्रणाली। सामाजिक-सांस्कृतिक मुद्दे। स्वतंत्रता आंदोलन, राजनीतिक जागृति और एकता वास्तुकला की मुख्य विशेषताएं – किले, और स्मारक कला, पेंटिंग और हस्तशिल्प। राजस्थानी साहित्य की महत्वपूर्ण कृतियाँ। स्थानीय बोलियाँ मेले, त्यौहार, लोक संगीत और लोक नृत्य। राजस्थानी संस्कृति, परंपराएं और विरासराजस्थान के धार्मिक आंदोलन, संत और लोक देवता। महत्वपूर्णपर्यटन स्थल। राजस्थान की प्रमुख हस्तियां। Rajasthan Police SI 2022 : भारतीय इतिहास प्राचीन और मध्यकालीन काल: प्राचीन और मध्यकालीन भारत की मुख्य विशेषताएं और प्रमुख स्थलचिह्न कला, संस्कृति, साहित्य और वास्तुकला। प्रमुख राजवंश, उनकी प्रशासनिक व्यवस्था। सामाजिक-आर्थिक स्थितियां, प्रमुख आंदोलन। आधुनिक काल: आधुनिक भारतीय इतिहास (लगभग अठारहवीं शताब्दी के मध्य से लेकर वर्तमान तक)- महत्वपूर्ण घटनाएं, व्यक्तित्व और मुद्दे। स्वतंत्रता संग्राम और भारतीय राष्ट्रीय आंदोलन- इसके विभिन्न चरण और देश के विभिन्न हिस्सों से महत्वपूर्ण योगदानकर्ता और योगदान। 19वीं और 20वीं सदी में सामाजिक और धार्मिक सुधार आंदोलन। स्वतंत्रता के बाद देश के भीतर समेकन और पुनर्गठन। Rajasthan Police SI 2022 : विश्व और भारत का भूगोल विश्व का भूगोल: व्यापक भौतिक विशेषताएं। पर्यावरण और पारिस्थितिक मुद्दे। वन्यजीव और जैव विविधता। अंतर्राष्ट्रीय जलमार्ग। प्रमुख औद्योगिक क्षेत्र। भारत का भूगोल:  व्यापक भौतिक विशेषताएं और प्रमुख भौगोलिक विभाजन। कृषि और कृषि आधारित गतिविधियाँ। खनिज – लोहा, मैंगनीज, कोयला, तेल और गैस, परमाणु खनिज। प्रमुख उद्योग और औद्योगिक विकास। परिवहन- प्रमुख परिवहन गलियारे। प्राकृतिक संसाधन। पर्यावरणीय समस्याएं और पारिस्थितिक मुद्दे। Rajasthan Police SI 2022: राजस्थान का भूगोल व्यापक भौतिक विशेषताएं और प्रमुख भौगोलिक विभाजन। राजस्थान के प्राकृतिक संसाधन- जलवायु, प्राकृतिक वनस्पति, वन, वन्य जीवन और जैव विविधता प्रमुख सिंचाई परियोजनाएं। प्रमुख उद्योग और औद्योगिक विकास की संभावनाएं। खान और खनिज। जनसंख्या। Rajasthan Police SI Syllabus RPSC: भारतीय संविधान, राजनीतिक व्यवस्था शासन संवैधानिक विकास और भारतीय संविधान:  भारत सरकार अधिनियम: 1919 और 1935, संविधान सभा, भारतीय की प्रकृति संविधान; प्रस्तावना, मौलिक अधिकार, राज्य के निदेशक सिद्धांत, मौलिक कर्तव्य, संघीय संरचना, संवैधानिक संशोधन, आपातकालीन प्रावधान, जनहित याचिका (पीआईएल), और न्यायिक समीक्षा। भारतीय राजनीतिक व्यवस्था और शासन: भारतीय राज्य की प्रकृति, भारत में लोकतंत्र, राज्यों का पुनर्गठन, गठबंधन सरकारें, राजनीतिक दल, राष्ट्रीय एकता। संघ और राज्य कार्यकारिणी; संघ और राज्य विधानमंडल, न्यायपालिका राष्ट्रपति, संसद, सुप्रीम कोर्ट, चुनाव आयोग, नियंत्रक और महालेखा परीक्षक, योजना आयोग, राष्ट्रीय विकास परिषद, केंद्रीय सतर्कता आयोग (CVC), केंद्रीय सूचना आयोग, लोकपाल, राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग (NHRC)। स्थानीय स्वशासन और पंचायती राज सार्वजनिक नीति और अधिकार कल्याणकारी राज्य के रूप में राष्ट्रीय सार्वजनिक नीति। विभिन्न कानूनी अधिकार और नागरिक चार्टर। Sub Inspector Syllabus PDF in Hindi राजस्थान की राजनीतिक और प्रशासनिक व्यवस्था राज्यपाल, मुख्यमंत्री, राज्य विधानसभा, उच्च न्यायालय, राजस्थान लोक सेवा आयोग, जिला प्रशासन, राज्य मानवाधिकार आयोग, लोकायुक्त, राज्य चुनाव आयोग, राज्य सूचना आयोग। सार्वजनिक नीति, कानूनी अधिकार और नागरिक चार्टर। आर्थिक अवधारणाएं और भारतीय अर्थव्यवस्था अर्थशास्त्र की मूल अवधारणाएं बजट, बैंकिंग, सार्वजनिक वित्त, राष्ट्रीय आय, विकास और विकास का बुनियादी ज्ञान लेखांकन- प्रशासन में अवधारणा, उपकरण और उपयोग स्टॉक एक्सचेंज और शेयर बाजार राजकोषीय और मौद्रिक नीतियां सब्सिडी, सार्वजनिक वितरण प्रणाली ई-कॉमर्स मुद्रास्फीति- अवधारणा, प्रभाव और नियंत्रण तंत्र आर्थिक विकास और योजना पंचवर्षीय योजनाएँ – उद्देश्य, रणनीतियाँ और उपलब्धियाँ। अर्थव्यवस्था के प्रमुख क्षेत्र- कृषि, उद्योग, सेवा और व्यापार- वर्तमान स्थिति, मुद्दे और पहल। प्रमुख आर्थिक समस्याएं और सरकारी पहल। आर्थिक सुधार और उदारीकरण मानव संसाधन और आर्थिक विकास मानव विकास सूची गरीबी और बेरोजगारी:- संकल्पना, प्रकार, कारण, उपचार और वर्तमान प्रमुख योजनाएं। सामाजिक न्याय और अधिकारिता:- कमजोर वर्गों के लिए प्रावधान। RPSC Rajasthan Police SI Syllabus 2022: राजस्थान की अर्थव्यवस्था अर्थव्यवस्था का एक मैक्रो अवलोकन। प्रमुख कृषि, औद्योगिक और सेवा क्षेत्र के मुद्दे। विकास, विकास और योजना। बुनियादी ढांचा और संसाधन। प्रमुख विकास परियोजनाएं। कार्यक्रम और योजनाएं- अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति/पिछड़े वर्ग/अल्पसंख्यकों/विकलांग व्यक्तियों, निराश्रितों, महिलाओं, बच्चों, वृद्ध लोगों, किसानों और मजदूरों के लिए सरकारी कल्याण योजनाएं। Rajasthan Police SI Syllabus in Hindi: विज्ञान प्रौद्योगिकी रोजमर्रा के विज्ञान की मूल बातें। इलेक्ट्रॉनिक्स, कंप्यूटर, सूचना और संचार प्रौद्योगिकी। उपग्रहों सहित अंतरिक्ष प्रौद्योगिकी। रक्षा प्रौद्योगिकी। नैनो तकनीक। मानव शरीर, भोजन और पोषण, स्वास्थ्य देखभाल। पर्यावरण और पारिस्थितिक परिवर्तन और उनके प्रभाव। जैव विविधता, जैव प्रौद्योगिकी और आनुवंशिक इंजीनियरिंग। राजस्थान के विशेष संदर्भ में कृषि, बागवानी, वानिकी और पशुपालन। राजस्थान में विज्ञान और प्रौद्योगिकी का विकास। Rajasthan Police SI Reasoning : तर्क और मानसिक क्षमता Logical Reasoning (Deductive, Inductive, Abductive): कथन और धारणाएँ , कथन और तर्क , कथन और निष्कर्ष , कार्रवाई के पाठ्यक्रम, विश्लेषणात्मक तर्क । Mental Ability :  नंबर सीरीज , लेटर सीरीज, ऑड मैन आउट, कोडिंग-डिकोडिंग , रिलेशन्स से संबंधित प्रॉब्लम्स , शेप्स और उनके सब-सेक्शन। Basic Numeracy :  गणितीय और सांख्यिकीय विश्लेषण का प्रारंभिक ज्ञान। संख्या प्रणाली, परिमाण का क्रम, अनुपात और अनुपात, प्रतिशत, साधारण और चक्रवृद्धि ब्याज, डेटा विश्लेषण (तालिकाएँ, बार आरेख, रेखा ग्राफ, पाई-चार्ट)। Rajasthan Police SI 2022 Current Affairs राज्य की प्रमुख समसामयिक घटनाएं और मुद्दे (राजस्थान), राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय महत्व हाल के समाचारों में व्यक्ति और स्थान खेल और खेल संबंधी गतिविधियां Paper-1 – General Hindi, 2 Hours (200 marks) Paper-2 – General Knowledge & General Science, 2 Hours (200)   Rajasthan Police SI Physical Test Requirement Details   Rajasthan Police SI Physical Test: उम्मीदवारों को लिखित परीक्षा के बाद, शारीरिक परीक्षण को पास करना होता है। इस परीक्षा को पास करने के बाद ही उम्मीदवारों साक्षात्कार (Interview) के लिए बुलाया जाता है। शारीरिक परीक्षण (Physical Test) का ज्यादा पाठ्यक्रम नहीं है जितना कि यह एक लिखित परीक्षा का है। हमने नीचे इसके बारे में बताया हैं। पुरुष के लिए: ऊंचाई: 168 सेमी यानी की 5’5 फीट सीना: 81 सेमी से 86 सेमी तक   महिला के लिए : ऊंचाई: 157 सेमी है जो 5’1 फीट छाती: छाती माप के मानदंड महिला उम्मीदवारों के लिए नहीं होते।   Rajasthan Police SI Syllabus 2022 FAQ’s Q.1: Rajasthan Police SI का परीक्षा पैटर्न क्या है? Ans: 200 अंकों का दो पेपर होते हैं, एक सामान्य हिंदी है, दूसरा सामान्य ज्ञान और सामान्य विज्ञान है। Q.2: Rajasthan Police SI परीक्षा के लिए कुल अंक क्या हैं? Ans: 400 अंक Q.3: Rajasthan Police SI की सामान्य श्रेणी के लिए कट-ऑफ प्रतिशत क्या है? Ans: पुरुष के लिए 53-55 प्रतिशत है और महिला के लिए 51-53 प्रतिशत है।

KBC लॉटरी के नाम पर हो रही धोखाधड़ी, जानिए कैसे रहे सावधान!

KBC Lottery Fraud

कौन बनेगा करोड़पति (KBC) के नाम पर ठगी होना कोई नई बात नही हैं। अक्सर साइबर अपराधी लोगो को ठगने के लिए ऐसे पैंतरे अपनाते हैं। और कई लोग इनके झांसे में आ भी जाते है। लेकिन आप चाहे तो ऐसे ठगों और ठगी के शिकार होने से बच सकते है। हम इस वीडियो/ब्लॉग में इन सभी बिंदुओं पर बात करेंगे। WhatsApp Message क्या है? साइबर क्रिमिनल कैसे करते है ठगी सावधानियां WhatsApp Message क्या है? ऐसे मैसेज में फ्राउडस्टर यूजर के नाम की लॉटरी निकलने की बात करता है। इसके मुताबिक “आपके नाम की 25 लाख रूपए की लॉटरी लगी है। आपका नंबर Jio, Airtel, Vodafone, Idea और BSNL के 5000 मोबाइल नंबर में से चुना गया हैं। और इस लॉटरी के पैसे को पाने के लिए आपको कॉल करना होगा”।  इस तरह के मैसेज आपके फोन में आता है। साइबर ठग कैसे करते हैं ठगी ? KBC Lottery Fraud में Fraudster Victims को अनजान नंबर से व्हाट्सएप मैसेज करते हैं। गौर करने वाली बात यह है की उनमें से ज्यादातर नंबर +92 से शुरू होता है जो एक पाकिस्तान ISD Code हैं। वो ये दावा करते है आपने कौन बनेगा करोड़पति (KBC) के थ्रू आपने 25 लाख रुपए जीते है। और अगर जीती हुई प्राइज मनी आपको चाहिए तो उस मैसेज में दिए हुए नंबर से कॉन्टैक्ट करें। लेकिन, जब Victim पैसे क्लेम करने के लिए उस दिए गए नंबर पर कॉल या मैसेज करता हैं, तब  Fraudster उनसे Processing Fee, GST आदि के नाम पर पैसे मांगते हैं। साथ ही यह भी कहते है ये पैसे रिफंडेबल हैं और इसका भुगतान करना आवश्यक हैं। जब एक बार वो पैसे डिपॉजिट कर देते है तब उनसे दुबारा किसी और बहाने से पैसे ऐंठने की कोशिश करते हैं। ये सिलसिला  काफी दिनों और कभी कभी कई हफ़्तों तक चलता हैं। लेकिन, जैसे ही विक्टिम पैसे लेने की जिद्द करता हैं फ्राउडेस्टर उनका फोन उठाना बंद कर देते हैं। साथ में उस नंबर को ही ब्लॉक कर देते है। पुलिस रिपोर्ट की माने तो इन फ्रॉड को बढ़ावा देने में कही न कही आमजन का भी उतना ही हाथ है जितना की आरोपी का। क्योंकि लोग लालच में आकर ऐसे लिंक और मैसेज पर क्लिक करते हैं। इसीलिए आप सभी से अपील है की लालच में ना आए और सावधान रहें। सावधानियां लॉटरी या प्राइज जीतने जैसे मैसेज और कॉल ज्यादातर Fake होते हैं। इस तरह के मैसेज में Grammatical Error होते हैं। इस तरह के लालच में ना आए, Fraudster आपके लालच का फायदा उठाते है। किसी भी Genuine लॉटरी जीतने के बाद उसमें टैक्स की कटौती के बाद ही आपको प्राइज मनी का अमाउंट मिलता है। किसी भी लॉटरी या प्राइज के लिए पैसे देने की जरूरत नही पड़ती। अगर आपसे लॉटरी की बात छिपाने को कहा जाए तो सतर्क हो जाए। फाइनल थॉट इस वीडियो/ब्लॉग में आपने जाना की लॉटरी के नाम पर फ्राउडस्टर कैसे कर रहे है ठगी। और आप इनसे कैसे बच सकते है। इस वीडियो को अधिक से अधिक लाइक और शेयर करें। ताकि आप और आपके आस पास के लोग सतर्क और सुरक्षित रहें। जय हिंद

अगर आप भी कर रहे हैं गूगल पर कस्टमर केयर का नंबर सर्च, तो हो जाए सावधान !

Google Search

हम अक्सर कस्टमर केयर नंबर या किसी ऐप या कोई भी जानकारी प्राप्त करने के लिए गूगल पर सर्च करते हैं। आप भी ऐसा करते है? अगर हां, तो अब आपको सावधान होने की जरूरत है। कही ऐसा ना हो की वो सर्च में दिखने वाला नंबर जालसाजों का हो और आपका बैंक बैलेंस उड़ जाए। आज के इस विडियो/ब्लॉग में हम इन पॉइंट्स पर बातें करेगें- लोन ऐप क्या है लोन ऐप के नाम पर साइबर फ्रॉड कैसे करते हैं ठगी लोन ऐप से जुड़ी जानकारी कहां से प्राप्त करें लोन देने वाली ऐप Fake हैं या नहीं कैसे पता करें सावधानियां लोन ऐप क्या हैं? जैसा की नाम से ही आप समझ सकते है, लोन ऐप ऐसे ऐप को कहते है जिसके जरिए आपको लोन मिल सकता है। यहां आपको पर्सनल, एजुकेशनल से लेकर सभी प्रकार के लोन मिल जाते हैं। लेकिन, इसके दुष्प्रभाव भी उतने ही हैं। अगर आप लोन ऐप के ज़रिए लोन लेना और फ्राउडस्टर्स से बचे रहना चाहते हैं तो इस वीडियो/ब्लॉग को पूरा देखे/पढ़े। और जाने कि राम बहादुर जी कैसे हुए साइबर ठगी के शिकार मीडिया रिपोर्ट की माने तो नोएडा के रामबहादुर जी के साथ लोन ऐप की जानकारी निकालने को लेकर फ्रॉड हुआ है। दरअसल, उन्हे एक लोन ऐप से संबंधित कस्टमर केयर नंबर और लोन ऐप को एक्टिवेट करने के विषय में जानकारी चाहिए थी। इसलिए उन्होंने गूगल पर सर्च किया। सर्च में कुछ नंबर दिखे और उन्हे लगा की ये नंबर कस्टमर केयर का नंबर हैं। लेकिन, सर्च में जो नंबर दिख रहा था वो किसी कस्टमर केयर का न होकर जालसाजों का था। जब उन्होंने इस नंबर से कॉल किया तो जालसाजो ने लोन ऐप एक्टिवेट करने के नाम पर एनी डेस्क नामक एक रिमोट ऐप डाउनलोड करवाया और उनके मोबाइल को हैक कर लिया। रामबहादुर जी को इस बात का पता तब चला जब उनके अकाउंट से पंद्रह हजार रुपए निकलने का एसएमएस आया। रामबहादुर जी ने इसकी शिकायत कोतवाली सेक्टर-126 पुलिस स्टेशन में की। पुलिस आरोपी की छानबीन में जुटी हैं। लोन ऐप से जुड़ी जानकारीयां कहां से प्राप्त करें लोन ऐप से जुड़ी जानकारियां आप उसके ऑफिशियल वेबसाइट से प्राप्त कर सकते हैं। लोन देने वाली ऐप Fake हैं या नहीं कैसे पता करें नीचे बताएं गए बिन्दुओं से आप जान पाएंगे की जिस ऐप से आप लोन ले रहे है वो असली है या नकली। किसी भी लोन ऐप को डाउनलोड करने से पहले उसकी रेटिंग, रिव्यू एक बार अच्छे से पढ़ ले। ये सारी जानकारी आपको ऐप स्टोर पर मिल जाएगी। लोन ऐप को किस कंपनी ने डेवलप किया है और कौन सी कंपनी चला रही हैं, भारत में उसका दफ्तर कहां है, दफ्तर का पता, कॉन्टैक्ट डिटेल्स इत्यादि इन सभी जानकारी को एक बार चेक कर ले। अगर किसी ऐप की ये जानकारी आपको नही मिलती तो थोड़ा सावधान रहें। अगर संभव हो तो उस ऐप से दूरी बनाएं। सबसे पहले ये चेक करें की उस ऐप से कोई ऐप जुड़ा है भी या नहीं। गूगल पॉलिसी के मुताबिक किसी भी लोन ऐप के साथ कोई न कोई नॉन बैंकिंग फाइनेंशियल कंपनी जुड़ी होनी चाहिए। अगर ऐसा नही है तो इससे सावधान होने की ज़रूरत हैं। एक अच्छा ऐप वही होता हैं जो यूजर्स से उसकी जानकारी कम से कम मांगे। क्योंकि फर्जी ऐप यूजर से ज्यादा से ज्यादा जानकारी प्राप्त करने की सोचते हैं ताकि उनसे ठगी कर सके। असली ऐप अपने यूजर को लोन देने से पहले अपने बारे में सारी जानकारी देता हैं। साथ ही आपको यह पता होना चाहिए की ऐप कभी भी लोन नहीं देता बल्कि वो एक मध्यम बनता है बैंक और यूजर के बीच का। चलिए अब हम जानते है की इस तरह के साइबर फ्रॉड के कैसे बच सकते हैं। सावधानियां   अनजान नंबर से आए कॉल का भरोसा न करें अपने खाते और निजी जानकारी न दे कस्टमर केयर का नंबर उस कंपनी के ऑफिशियल वेबसाइट पर जाकर ढूंढे कोई भी ऐप किसी दूसरे के कहने पर इंस्टॉल ना करे गूगल सर्च में दिखने वाले नंबर पर विश्वास न करे फाइनल थॉट इस वीडियो/ब्लॉग में आपने जाना की जब आप गूगल में दिखने वाले रैंडम नंबर को कस्टमर केयर नंबर समझ कर कॉल या उनसे मदद लेने की कोशिश करते हैं तो आपके साथ धोखाधड़ी कैसे हो सकती है। और आप इनसे कैसे बच सकते है। इस वीडियो को अधिक से अधिक लाइक और शेयर करें। ताकि आप और आपके आस पास के लोग सतर्क और सुरक्षित रहें। जय हिंदी

पटना में बैठकर अमेरिका के लोगों से की ठगी, आइए जानें कैसे मालवेयर App डाउनलोड करवा खाते को कर देते थे साफ

Cyber Security

पटना में कॉल सेंटर खोलकर साइबर अपराधी अमेरिका के लोगों से ठगी कर रहे थे। पुलिस में अपनी जांच में यह बताया की ये अंतरराष्ट्रीय गैंग के साइबर ठग अमेरिका के लोगों के कम्प्यूटर में मालवेयर और रैंसमवेयर सॉफ्टवेयर डाउनलोड करवा देते थे। और फिर उसी रैंसमवेयर सॉफ्टवेयर को ठीक करने के नाम पर लोगों से ठगी कर रहे थे। आज के इस विडियो/ब्लॉग में हम आपको ये जरूरी जानकारी बताएंगे कॉल सेंटर क्या है? मैलवेयर सॉफ्टवेयर क्या होता है? साइबर फ्रॉड कैसे करते है ठगी Fake कॉल को कैसे पहचानें सावधानियां कॉल सेंटर क्या होता है? कॉल सेंटर एक कार्यालय है जो एक कंपनी के द्वारा स्थापित की जाती है और उनके ग्राहकों के सवालों का जवाब दिया जाता है। मैलवेयर सॉफ्टवेयर क्या होता है? मैलवेयर एक प्रकार का सॉफ्टवेयर है जिसे किसी डेस्कटॉप या उस सिस्टम में इंस्टॉल किया जाता है जिसे नुकसान पहुंचाना हैं। मैलवेयर आपकी निजी जानकारी जैसे क्रेडिट कार्ड/डेबिट कार्ड नंबर को भी चुरा सकता हैं। साइबर अपराधी ऐसे कर रहे थे ठगी पटना के साइबर ठगों ने अमेरिका के लोगो से डॉलर में ठगी की हैं। आरोपी पहले तो अंतराष्ट्रीय लोगों से उनके सिस्टम में मैलवेयर सॉफ्टवेयर डाउनलोड करवाते थे और फिर उसे ठीक करने के नाम पर उनसे ठगी किया करते थे। पश्चिम बंगाल के निवासी दानिश अर्शद, और सब्बीर अहमद और मेटफाक स्ट्रीट के निवासी आमिर सिद्दिकी को पश्चिम बंगाल के दीघा थाने की पुलिस ने पकड़ा हैं। पूछताछ में यह बात पता चली है की तीनों ने कोलकाता के ही एक कॉलेज से बीकॉम की पढ़ाई थी। बाद में अच्छे दोस्त बने और साइबर क्राइम के साथी बन गए। पुलिस ने आगे बताया की आमिर के पिता कोलकाता में एक व्यवसायी हैं। जब पुलिस ने छापेमारी की तो इनके पास से करीब 10.5० लाख नकद रुपये मिले। सिटी एसपी सेंट्रल अम्बीश राहुल ने बताते हुए कहा कि ये हर रोज चार से पांच लोगों के साथ ठगी करते थे। आइए अब जानते है की आप इन फ्रॉड कॉल्स को कैसे पहचान सकते हैं। फ्रॉड कॉल्स को कैसे पहचाने ? बैंक कभी अपने ग्राहक के निजी जानकारी नहीं मांगता जैसे की एटीएम कार्ड डिटेल्स, पासवर्ड इत्यादि क्रेडिट कार्ड या डेबिट कार्ड की वैलिडिटी को लेकर कॉल आए और आपके बैंक डिटेल्स मांगे तो समझ जाए, ये ठग है लोन अप्रूवल का कॉल आए जबकि आपने कोई लोन अप्लाई नहीं किया तो समझ जाए ये फ्रॉड है और अगर किया भी हो तो पहले लोन देने वालों से संपर्क करें। लॉटरी को लेकर कॉल आए तो कभी विश्वास न करें अगर सिम कार्ड को अपग्रेड कराने की बात करे और बैंक डिटेल्स मांगे तो कॉल डिस्कनेक्ट कर दे. ऐसे फ्रॉड से बचने के लिए सावधानियां अगर कोई आपके बैंक डिटेल्स मांगे तो न दे अगर आप इंटरनेट बैंकिंग का इस्तेमाल करते है तो ट्रांजेक्शन उसके ऑफिशियल वेबसाइट पर ही करे अगर किसी ईमेल या एसएमएस में कोई दूसरे वेबसाइट पर क्लिक करने बोले तो कभी ना करे साइबर कैफे में उपलब्ध शेयर सिस्टम पर इंटरनेट बैंकिंग की हिम्मत नही करे किसी को भी अपनी पहचान पत्र जैसे आधार कार्ड, पैन कार्ड इत्यादि न दे। कस्टमर केयर का नंबर कभी भी गूगल पर सर्च न करे। इसकी सुविधा उठाने के लिए ऑफिशियल वेबसाइट पर जाएं। लॉटरी जीतने का मैसेज आए तो दिए गए लिंक पर क्लिक ना करे। अपने फोन, लैपटॉप आदि को हमेशा अपडेट करते रहे। फाइनल थॉट ये थी कॉल सेंटर से जुड़ी जरूरी सावधानियां जिसे अगर आप ध्यान में रखते हैं तो साइबर फ्रॉड से बचा भी जा सकता हैं और अपने आस पास के लोगों को भी बचाया जा सकता हैं।

Rajasthan Police Sub Inspector Syllabus 2022- Arti Singh Tanwar

Rajasthan SI Police Paper 1

Syllabus of Paper 1 (Hindi) शब्द रचना: सन्धि एवं सन्धि विच्छेद, समास, उपसर्ग, प्रत्यय शब्द प्रकार: (क) तत्सम, अर्द्धतत्सम, तद्भव, देशज, विदेशी । (ख) संज्ञा, सर्वनाम, विशेषण, क्रिया, अव्यय (क्रिया विशेषण, सम्बन्ध सूचक, विस्मयबोधक निपात) शब्द ज्ञान: पर्यायवाची, विलोम, शब्द युग्मों का अर्थ भेद, वाक्यांश के लिए सार्थक शब्द, समश्रुत भिन्नार्थक शब्द, समानार्थी शब्दों का विवेक, उपयुक्त शब्द चयन, सम्बन्धवाची शब्दावली। शब्द शुद्धि व्याकरणिक कोटियाँ: परसर्ग, लिंग, वचन, पुरूष, काल, वृत्ति((mood), पक्ष(Aspect), वाच्य(Voice) वाक्य रचना वाक्य शुद्धि विराम चिह्नों का प्रयोग  मुहावरे / लोकोक्तियोँ पारिभाषिक शब्दावली: प्रशासनिक, विधिक (विशेषतः) Pattern of Question Paper: 1. Maximum Marks – 200 2. Duration of Paper – 2 (Two) Hours 3. There will be 100 questions of multiple choice (Objective Type), carrying equal marks. 4. There will be negative marking. 1/3 mark will be deducted for each wrong answer. Click Here to Download Rajasthan Police Sub Inspector Syllabus 2022

Sextortion क्या है? Sextortion से कैसे बचे?

Sextortion Case

Sextortion साइबर क्रिमिनल्स ने लोगो को ठगने का नया तरीका इजात किया है और वो है सेक्सटोर्शन, यानी की ऑनलाइन सेक्सुअल ब्लैकमेलिंग। आज जितनी तेजी से टेक्नोलॉजी ग्रो कर रही है उतनी ही तेजी से साइबर क्रिमिनल्स भी लोगो को ठगने का तरीका निकालते जा रहे है। इस बारे में कई लोग आज भी अनजान है क्योंकि जिनके साथ ऐसा हुआ नही वो अपना काम छोड़ कर इसे समझने या जानने में वक्त बर्बाद नही करना चाहते। और यही बात साइबर अपराधियों के लिए रामबाण का काम करती है। अगर आप भी उन लोगो में से एक है तो इस आर्टिकल (Sextortion – Online Cyber Blackmailing) को अच्छी तरह जान ले और समझ ले ताकि आपके साथ या आपके चाहने वालो के साथ ऐसा ना हो। और आप बिल्कुल सुरक्षित रहे। तो चलिए समझते है sextortion और उससे जुड़ी सावधानियों को। Sextortion के आंकड़े क्या कहते है? Cyber Crime Investigation Officer राहुल यादव जी कहते है की हमारे देश में हर दिन लगभग 500 लोग sextortion जैसे साइबर क्राइम का शिकार होते है। लेकिन, उनमें से 0.5% से कम लोग इसके खिलाफ एफआईआर (FIR) दर्ज करवाते है। इस आंकड़े की वजह से भारत “Sextortion Capital of World” बनता जा रहा है। Sextortion के खिलाफ एफआईआर दर्ज ना कराने या किसी से इस बारे में शेयर ना करने की सबसे बड़ी वजह है शर्मिंदगी। Case Study on Sextortion ऐसा ही एक केस दिल्ली पुलिस ने रजिस्टर्ड किया था, जो दिल्ली सरकार के रिटायर्ड ऑफिसर थे और उनकी उम्र 76 साल थी। उन्होंने पुलिस को बताते हुए कहा की, एक दिन उनके पास अनजान नंबर से व्हाट्सएप के माध्यम से वीडियो कॉल आता है। और जैसे ही उन्होंने कॉल रिसीव किया एक लड़की जो न्यूड थी वो आ जाती है और अश्लील हरकतें करने लगती है। उनके कॉल कट करने के थोड़ी ही देर बाद एक कॉल आता है और उनसे 50 हजार रुपयों की डिमांड करता है। साथ ही धमकाया भी जाता है की अगर उन्होंने ऐसा नही किया तो उनका यह वीडियो उनके सारे कॉन्टैक्ट्स (Contacts) में सरकुलेट (दे दिया जाएगा) कर दिया जाएगा। यह सिलसिला दो तीन दिनों तक चलता रहा, पर उनकी (रिटायर्ड ऑफिसर) की हिम्मत नही हुई की वो FIR दर्ज करवाए। फिर इन सब में उनके एक दोस्त ने मदद की और FIR दर्ज करवाया गया। साथ ही उस साइबर अपराधी को भी गिरफ्तार कर लिया गया। ये सिर्फ एक मामला नही है, सेक्सटोर्शन के शिकार मुंबई के शिव सेना के MLA भी हो चुके है और उस साइबर क्रिमिनल मोहम्मद खान को राजस्थान से अरेस्ट कर लिया गया था। यह वारदात नवंबर 2021 का ही है। इसी की तरह राजस्थान के मिनिस्टर राम लाल जाट और बीजेपी MP प्रज्ञा ठाकुर भी हो भी चुके है। साइबर एक्सपर्ट की माने तो ये क्रिमिनल्स रिकॉर्डेड न्यूड वीडियो का इस्तेमाल करते है और लोगो को अपनी ठगी का शिकार बनाते है। Sextortion से कैसे बचे? आप चाहे तो इन बातो को ध्यान में रखने पर Sextortion से बच सकते है। वो बिंदु कुछ इस प्रकार है:- सोशल मीडिया पर अनजान व्यक्ति से दोस्ती या बातचीत ना करे। अनजान वीडियो कॉल आए तो सावधान हो जाए। अगर गलती से अनजान वीडियो कॉल रिसीव हो जाए या कर लिया तो screen को सामने ना रखे। आप ऐसा भी कर सकते है की जब भी अनजान व्यक्ति का कॉल आए तो आप अपना अंगूठा कैमरे के ऊपर रख कर फोन पिक करे। अगर आप Sextortion के शिकार होते है तो इससे डरने या घबराने की जरूरत नही है, अपने नजदीकी पुलिस ठाणे में एफआईआर दर्ज करवाए और अपने जानने वालों को जागरूक करे। इसीलिए इस ब्लॉग पोस्ट को शेयर करना ना भूले। फाइनल थॉट तो ये थी Sextortion और उससे जुड़ी कुछ महत्वपूर्ण बातें जो आपको हर हाल में पता होना चाहिए। ताकि आप खुद भी सतर्क रहे और दूसरो को रखे। आपको यह आर्टिकल कैसा लगा हमे कॉमेंट सेक्शन में बताना ना भूलें। इसी तरह के आर्टिकल पढ़ने और जानने के लिए हमारे ब्लॉग को सब्सक्राइब करना ना भूलें। अगर आपको हमारा कंटेंट पसंद आता है तो इसे अपने जानने वालों के साथ शेयर करे ताकि उन्हें भी इसको जानकारी हो।